अहमदाबाद के इक फ़्लैट में ड़ीलीवरी देने गए मुस्लिम ड्राइवर पर हमला, मुँह से अल्लाह निकला तो ओर मारा

0
2104

अहमदाबाद, गुजरात : देश के लोग इक दूसरें के साथ मील जूल कर रहते है जो बरसों बरस से भारत की परंपरा है लेकिन पिछले कुछ सालों से देश की फ़िज़ाओं में कुछ गिरोह ज़हर घोल रहे है जिसके परिणाम स्वरूप कई शहरों और गाँवों में आए दिन मुसलमानों पर धर्म के नाम पर हुमलें हो रहे हैं।

मुसलमानों से नफ़रत का इक ताज़ा मामला अहमदाबाद के खोखरा इलाक़े के इक रीहायशी कॉम्प्लेक्स में सामने आया है। जहाँ माल की ड़ीलीवरी देने गए जमालपुर इलाक़े की चंपा मिल की चाल में रहनेवाले मोहमद अनस शेख़ जो पेशे से कुरीयर कम्पनी में ड्राइवर हे उन पर सोसायटी के चेरमेन,1 सदस्य एवम् 2 र्सिक्युरिटी गार्ड्स ने बग़ैर रजिस्टर में एंट्री के प्रवेश करने की वजह से हुमला कर दिया। जब 4 लोग मील कर अनस को मारने लगे तो उनके मुँह से अल्लाह निकला जिसको सुनने के बाद उन्हें यहाँ एसा नहीं बोलना और धर्म की बीना पर गालियाँ दी गई और ज़्यादा मारा गया। अनस शेख़ के साथ उनकी कम्पनी के सुपरवाईज़र अमनसिंह सीसोदिया भी थे जिन्हें मारा गया था। अनस शेख़ को हुमलावरों से सोसायटी के दूसरे लोगों ने बचा कर मनीनगर के एल.जी अस्पताल में चिकीत्सा के लिए भेज दिया था।

अनस शेख़ ने और अमनसिंह ने खोखरा पुलीस थाने में परिष्कार सोसायटी के चेरमेन सुशील, सदस्य अंशुल और सिक्युरिटी गार्ड नारन पटेल और अशोक रबारी पर प्राथमिकी दर्ज करवा दी है।इस पूरे मामले में मौलाना अब्दुल रज़्ज़ाक जनरल सेक्रेटरी जमीअत उलमा, एडवोकेट वसीम अब्बासी लीगल एडवाइजर जमीअत उलमा गुजरात, मौलाना रागिब, हबीब शेख ओर शरीफ मलेकनें शिकायतकर्ता मोहम्मद अनस को प्राथमिकी दाखिल करवाने में मदद की।