अमरिकी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी मानवाधिकार रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत सरकार दबाव बनाने के
साथ उन मीडिया संस्थानों को परेशान कर रही है, जो उसकी आलोचना कर रहै हैं।

वॉशिंग्टन : अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने दावा किया है कि भारत में आलोचक मीडिया संस्थानों को केंद्र सरकार परेशान कर रही है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने मानवाधिकार रिपोर्ट 2017 जारी की है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में सरकार की आलोचना करने वाले मीडिया संस्थानों पर दबाव बनाया जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, “भारत में कुछ ऐसे मामले सामने आए, जिसमें सरकार ने उन मीडिया संस्थानों को परेशान किया, जिन्होंने उसकी आलोचना की।”

रिपोर्ट में कहा गया है, “भारत का संविधान अभिव्यक्ति की आजादी देता है, लेकिन संविधान में प्रेस की स्वतंत्रता के बार में स्पष्ट रूप से नहीं लिखा गया है। भारत सरकार आम तौर पर प्रेस की स्वतंत्रता का सम्मान करती है। लेकिन, 2017 में सामने आए कई मामलों में ऐसा देखने को नहीं मिला।”

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की इस रिपोर्ट में उन घटनाओं को भी शामिल किया गया है, जिन्हें भारत में प्रेस की आजादी पर हमले के रूप में देखा गया है। हर साल अमेरिकी विदेश मंत्रालय की ओर से इस रिपोर्ट को जारी किया जाता है। ट्रंप प्रशासन की इस सालाना रिपोर्ट में विश्व के साभी देशों में मानवाधिकार की स्थिति के बारे में बताया जाता है।