दरियापुर की हाजी सखी मस्जिद को आरोग्य मंत्रालय के नाम से भेजा गया जाली नोटीस

0
4581

News 5 को ट्रस्टी नें कहाकि मस्जिद में सारें नियमों का होता है पालन

अहमदाबाद : कोरोना महामारी के संक्रमण के बाद देश के सभी धार्मिक स्थानों में ज्यादा लोगों के इकट्ठा होनें पर केन्द्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा पाबंदीयाँ लगा दी गई थी। अनलॉक की शुरुआत के बाद मंदिरो, मस्जिदों और चर्च जैसे धार्मिक स्थानों पर नियमों के तहत लोगों को आनें की छूट दी गई है लेकिन लोग उन नियमों को तोड रहे है एसा प्रशासन को लग रहा है।

अहमदाबाद के दरियापुर स्थित हाजी सखी की मस्जिद कों राज्य सरकार के नाम से इक कथित नोटीस भेजा गया है जिसमें कोरोना महामारी से बचनें के लिए केन्द्र सरकार द्वारा जो दीशानिर्देश दीयें है उन्हें तोडनें का आरोप लगाया गया है। इस नोटीस में किसीकी आधिकारीक सही नहीं है और ना ही कोई स्टेम्प है जिससे यह नोटीस के जाली होनें की बात पता चलती है।

आरोग्य मंत्रालय के इस कथित नोटीस के बारे में जब News 5 नें ट्रस्टी मुहम्मद हनीफ के साथ बात की तो उन्होंने बताया कि हाजी सखी मस्जिद में टेम्परेचर चेक करनें के लिये गन का इंतजाम भी है और सेनीटाइजर भी रखा गया है और यहाँ सोशल डीसटन्स को मद्दे नजर रखते हुए नमाज पढी जाती है। मुहम्मद हनीफ ने कहाकि जबसे मस्जिद के मौलाना साहब और मुझे दरियापुर पुलिस स्टेशन के अधिकारीयो की तरफ से कोरोना के चलतें नियमों का पालन करने को कहा गया है तभी से हम सारे कानुनों का पालन कर रहे है।