सीकर में “मोदी जिंदाबाद” ना कहनें पर वृद्ध ऑटोचालक को बेरहमी से पीटनेंवालें दो आरोपी गिरफतार

0
989

शुक्रवार को अब्दुल गफ्फार से जबरन धार्मिक नारे भी लगवाये थे

सीकर,राजस्थान : देश में कोरोना संक्रमण के मामले बढ रहे है फिर भी कुछ कट्टरवादी लोगों की मानसिक्ता ज्यों की त्यों है। ताजा मामला राजस्थान के सिकर के सदर थाना इलाके से सामनें आया है जहाँ 52 साल के वृद्ध एक बुजुर्ग ऑटो चालक गफ्फार अहमद को सिर्फ इसलिए बेरहमी से पीटा क्युँकि उन्हों ने जबरदस्ती मोदी जिंदाबाद कहनें के लिए मना कर दीया।

गफ्फार अहमद ने इस संबंध में सदर थाना कोतवाली में मुकदमा दर्ज करवाया जिसमें उन्हों ने कहा है कि “में 7 अगस्त को तडके 4 बजे जब ऑटो की सवारी छोडकर सीकर वापिस लौट रहा था तब दो शख्सों ने मुझे हाथ दिखाकर रोका और मुजसे खन्नी जर्दा माँगा, मेरे पास मिराज जर्दा था जो मेंने उन्हें दिया तो उन्होंने लेने से मना किया तो उसमें से एक लडके ने मुझ से कहा मोदी जिन्दाबाद का नारा लगा तो मेने उसे मना किया तो उसने मुझे जोरदार थप्पड मारा फिर में गाडी ले कर भागा। थोडा आगे इन दोनों ने मुझे रोका और माँ बहन की गाली देते हुये मेरे साथ बुरी तरह मारपीट की और मुझसे जबरन धार्मिक नारे लगाने के लिये मजबूर किया फिर मेरी जेब से रुपये नीकाले और मेरी हाथ की घडी नीकाल ली और मुझे नीचे डालकर लातों से, घुसों से और लकडी से खूब पीटा।”

मामले की गंभीरता को देख सीकर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए राजेन्द्र जाट और शम्भूदयाल जाट नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपीयों ने पुलीस की पूछताछ में गफ्फार अहमद को मारनें की बात भी कुबुल कर ली है। सीकर पुलीस ने लोगों को चेतावनी देते हुए कहाकि इस मामले को लेकर सोशलमीडिया पर कोई भी व्यक्ति भड़काऊ पोस्ट ना करें अन्यथा उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।